fbpx

पत्नी के मन को नियंत्रित करने के लिए वशीकरण उपाय

अगर आप चाहते है की आपकी पत्नी सिर्फ आपकी बात सुने तथा आप उसके मन को नियंत्रित कर सके तो अपनाए कुछ ये उपाय –

पत्नी वशीकरण मंत्र एक शक्तिशाली मंत्र है जो पति को अपनी पत्नी से सुरक्षित, हमेशा के लिए अनुकूल और नियंत्रित करने में मदद करता है इन मंत्रो से आपकी पत्नी सिर्फ आपका कहा मानेगी तथा आपकी कही हर एक बात उसे सही लगेगी । केवल सकारात्मक वशीकरण मंत्र इतना शक्तिशाली और हानिरहित हो सकता है। सबसे अच्छे संभव परिणाम एक विशेषज्ञ और उदार वशीकरण विशेषज्ञ से ऐसी सकारात्मक और सुरक्षित वशीकरण सेवा प्राप्त करने के माध्यम से उपलब्ध हैं।

गुजरात में ज्योतिषी विशेषज्ञ बताते है कि पत्नी वशीकरण मंत्र उन व्यक्तिगत पतियों के लिए है जो लगातार घरेलू समस्याओं से पीड़ित हैं और जिनके पिछले महीनों या वर्षों में अपनी सम्मानित पत्नी के साथ विवाद चल रहे हैं । इस ब्लॉग में दिए गए पत्नी वशीकरण मंत्रों के उपयोग से महान और चमत्कारी हो सकते हैं ।

वशीकरण विशेषज्ञ ज्योतिषी कहते है कि ये वशीकरण मंत्र विवाद, अलगाव या असंगतता के कारणों के बावजूद मदद करेंगे, यह ध्यान में रखा जाना चाहिए कि आपकी पत्नी को नियंत्रित करने के लिए इनमें से कोई भी मुफ्त वशीकरण मंत्र, हमारे उत्तरदायी और धर्मी गुरु जी के परामर्श के बाद उपयोग किया जाना चाहिए।

मन्त्र 1
ॐ भगवती भग भाग दायनी देव दन्ती मम वंश्य करु करु स्वाहा: ||

मन्त्र 2
ॐ नमोः कत विकत घोर रूपिणी… (पत्नी नाम) …से वास्माने स्वाहा: ||

नीचे कुछ प्रसिद्ध वशीकरण मंत्र दिए गए हैं। इनमे से किसी एक को सिद्ध करने के बाद प्रयोग करें, मनोवांछित परिणाम प्राप्त होंगे ।

पत्नी वशीकरण मंत्र –1

जंगल की योगिनी पाताल के नाग

उठो मेरे वीरो ————–को ल्याओ हमारे पास

यहाँ यहाँ हमारे सहाई

अब नाज़ भरी ताज भरी अग्नि तक फूक फिरो

मन विसरे मेरे गुरु गोरखनाथ की दुहाई !

विधिः ग्रहणकाल में इस मंत्र का निरंतर जाप करें। ऐसा करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाएगा। प्रयोग के समय रिक्त स्थान पर अपनी पत्नी का नाम लें तथा निरंतर 21 दिनों तक एक माला जपें। पत्नी वशीभूत हो जाएगी तथा यदि छोड़कर चली गई हो वापस आ जाएगी।

पत्नी वशीकरण मंत्र –2

 

भगवते रुद्राय सर्वजगमोहनं कुरू कुरू स्वाहा

विधिः इस मंत्र का जाप शनिवार से प्रारंभ कर अगले शनिवार को समाप्त करें। प्रति दिन एक सप्ताह 1 माला जाप करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाएगा। इसके बाद पत्नी के पैरों के नीचे मिट्टी उठाकर सात बार इस मंत्र का जाप करें तथा सिर पर डाल दें।

पत्नी वशीकरण मंत्र-3

क्लीं नमः कमाक्ष्यै दैव्यै अमुकी भे

मम वश्यं कुरु कुरु स्वाहा।

विधिः इस मंत्र का सवा लाख जाप करने से यह सिद्ध हो जाता है। अमुकी के स्थान पर पत्नी का नाम लें। इसके बाद, रविवार के दिन काले धतूरे की डाल, पत्ते बीज तथा जड़ को पीस लें तथा उसमें समान मात्रा में गोरोचन तथा केसर मिश्रित करें। इस मिश्रित सामग्री से तिलक करें तथा पत्नी के समक्ष जाएं। तिलक लगाते समय निरंतर उक्त मंत्र का जाप करते रहें। ऐसा करने के कुछ देर के बाद पत्नी का व्यवहार स्वयं के प्रति आप बदला हुआ पाएंगे।

इसके अलावा हमारे ज्योतिष राहुल शास्त्री से बात करने के लिए आप कॉल या व्हाट्सएप्प (9592039779) कर सकते है. या फिर हमारी वेबसाइट पर जाकर हमसे संपर्क कर सकते है. वेबसाइट है https://www.speaktoastrologer.com/ . आप हमें अपनी समस्या मेल भी कर सकते है. हमारी मेल आईडी है AstroShastri001@gmail.com.

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post